First Diwali

On diwali night, the staccato of bursting crackers where disturbing them. They were disturbed and wanted to ask what sound is this.

Next morning, when their mother was feeding them, they know solace and calmness of the level they had received is nowhere to be found out.

And on this day they had celebrated their first diwali.

विन्सेंट वॉन गॉग

Source google

एक बात जाननी थी तुमसे

कि उस दिन

जब तुमने पिस्टल उठा कर

अपनी कनपटी में रखा था

और ट्रिगर दबा कर

एक शून्य को कंबल के भांति ओढ़ लिया था

तुम्हारे शरीर से निकले रक्त का रंग

लाल था या पीला?

मुझे लगता है पीला रहा होगा

तुम्हारी पूरी जिंदगी पीलापन से ही भरी हुई थी

और ट्रिगर दबाते ही

तुमने उनके छींटे

ज़मीन पर फैलाकर

फिर उसमें लेटकर

तुमने अपनी आख़री ‘सेल्फ-पोट्रेट’ बनाई होगी

बरसात

मालूम है मुझे

नाराज़ हो तुम मुझसे

और जायज़ भी है

की जब आई थी पिछली दफ़ा

तुम, मिलने मुझसे

मैं मौजूद ना था

और तुम्हें लौटना पड़ा था

बिना मुझसे मिले

तुम्हें मानने के लिए

मैंने तुम्हारे पसंदीदा पेड़ो के

बीज बोए हैं

मालूम है मुझे

आओगी तुम हर शाम

उनमें पानी डालने

उम्र की बरसी

#happybirthday

आज तुम्हारे उम्र की बरसी है

और जब इस साल

इसमें जोड़ना एक अंक

तो साथ ही साथ

जोड़ लेना इसमें

कुछ हसीन लम्हें

कुछ बेपरवाही मुस्कुराहटें

कुछ किताबें

कुछ शरारतें